A few hindi quotes

गरीब वह है जिसकी अभिलाषायें बढी हुई हैं ।
— डेनियल

गरीबों के बहुत से बच्चे होते हैं , अमीरों के सम्बन्धी.
-– एनॉन

पैसे की कमी समस्त बुराईयों की जड़ है।

कुबेर भी यदि आय से अधिक व्यय करे तो निर्धन हो जाता है |
– चाणक्य

निर्धनता से मनुष्य मे लज्जा आती है । लज्जा से आदमी तेजहीन हो जाता है । निस्तेज मनुष्य का समाज तिरस्कार करता है । तिरष्कृत मनुष्य में वैराग्य भाव उत्पन्न हो जाते हैं और तब मनुष्य को शोक होने लगता है । जब मनुष्य शोकातुर होता है तो उसकी बुद्धि क्षीण होने लगती है और बुद्धिहीन मनुष्य का सर्वनाश हो जाता है ।
— वासवदत्ता , मृच्छकटिकम में

गरीबी दैवी अभिशाप नहीं बल्कि मानवरचित षडयन्त्र है ।
— महात्मा गाँधी

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s